Friday, 22 March 2019, 3:36 PM | होम

धर्म कर्म

वर्ष 2019 में कब-कब आएगा पंचक काल, जानिए क्यों माना जाता है इसे अशुभ...

Updated on 6 March, 2019, 6:30
भारतीय ज्योतिष में हर माह लगने वाले पंचक काल को शुभ नहीं माना गया है। इस समय किए गए कार्य अशुभ और हानिकारक फल देते हैं, ऐसा माना जाता हैं। अत: इस नक्षत्र का योग अशुभ माना जाता है। इस पंचक काल के इन 5 दिनों में विशेष संभलकर रहने की... आगे पढ़े

महाभारत युद्ध के 18 गुप्त रहस्य

Updated on 6 March, 2019, 6:15
प्राचीन भारत का इतिहास है #महाभारत।श्रीकृष्ण द्वैपायन नाम के वेदव्यास ने यह ग्रंथ श्रीगणेशजी की मदद से लिखा था। जीवन के रहस्यों से भरे इस ग्रंथ को 'पंचम वेद' कहा गया है। यह ग्रंथ हमारे देश के मन-प्राण में बसा हुआ है। यह भारत की राष्ट्रीय गाथा है। इस ग्रंथ... आगे पढ़े

अमावस्या का यह रहस्य आप नहीं जानते होंगे, पढ़ें रोचक जानकारी...

Updated on 6 March, 2019, 6:00
अमावस्या : वर्ष के मान से उत्तरायण में और माह के मान से शुक्ल पक्ष में देव आत्माएं सक्रिय रहती हैं तो दक्षिणायन और कृष्ण पक्ष में दैत्य आत्माएं ज्यादा सक्रिय रहती हैं। जब दानवी आत्माएं ज्यादा सक्रिय रहती हैं, तब मनुष्यों में भी दानवी प्रवृत्ति का असर बढ़ जाता... आगे पढ़े

जीवन में शुभता लाएंगे 6 मार्च के 6 उपाय, अमावस्या पर जरूर आजमाएं

Updated on 5 March, 2019, 6:45
बुधवार, 6 मार्च 2019 को फाल्गुन माह की अमावस्या है। पौराणिक शास्त्रों में महाशिवरात्रि के बाद आने वाली इस अमावस्या का विशेष महत्व माना गया है। कृष्ण पक्ष की इस अमावस्या को बड़ी अमावस्या, स्नान दान अमावस्या भी कहा जाता है। इस दिन का भारतीय जनजीवन में अत्यधिक महत्व हैं। इस... आगे पढ़े

पितरों को मोक्ष दिलाती है फाल्गुन अमावस्या, आप नहीं जानते इसकी ये 5 बातें

Updated on 5 March, 2019, 6:30
हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों के लिए वैसे तो प्रत्येक मास की अमावस्या का बहुत महत्व होता है, लेकिन फाल्गुनी अमावस्या का अपना ही एक विशेष महत्व होता है। यह हिंदू वर्ष की अंतिम अमावस्या भी होती है। 1 दरअसल हिन्दू कैलेंडर का अंतिम माह फाल्गुन माह होता है और इस... आगे पढ़े

श्री हनुमानजी का विलक्षण मंत्र, जीवन की हर मुश्किल घड़ी में बनेगा कवच

Updated on 5 March, 2019, 6:15
श्री हनुमान जी अत्यंत अद्भुत शक्तियों व गुणों के स्वामी होने से ही वे जाग्रत देवता के रूप में पूजनीय हैं। वे चिरंजीवी हैं। श्री हनुमान जी की उपासना अचूक मानी जाती है। इसलिए किसी भी वक्त हनुमान की भक्ति संकटमोचन मानी गई है। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत है चमत्कारी... आगे पढ़े

तो यूं हुई शिवलिंग की उत्पत्ति और इसलिए होती है पूजा

Updated on 3 March, 2019, 6:15
भगवान शिव का प्रिय त्योहार महाशिवरात्रि नजदीक है। यह पर्व फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चर्तुदशी को मनाया जाता है। हिंदू धर्म में महाशिवरात्रि का एक विशेष महत्व है। महाशिवरात्रि पर शिवलिंग को भी पूजा जाता है। देवों के देव महादेव शंकर भगवान से जुड़ी जो सबसे खास बात... आगे पढ़े

बहुत चमत्कारिक रत्न है लाजवर्त, फायदे जानकर चौंक जाएंगे

Updated on 1 March, 2019, 6:30
मणियां कई प्रकार की होती है। जैसे घृत मणि, तैल मणि, भीष्मक मणि, उपलक मणि, स्फटिक मणि, पारस मणि, उलूक मणि, मासर मणि और लाजावर्त मणि। ज्योतिष के अनुसार लाजावर्त मणि के बारे में जानिए अद्भुत जानकारी।  कैसी होती है लाजावर्त मणि- यह कई प्रकार की होती है। लाजावर्त नाम का एक... आगे पढ़े

महाशिवरात्रि पर अत्यंत चमत्कारी फल देता है महामृत्युंजय मंत्र, जानिए इसके शुभ नियम

Updated on 1 March, 2019, 6:15
यह सर्वविदित है कि महाशिवरात्रि पर शिव आराधना का विशेष महत्व होता है। शिवजी की आराधना में जितना महत्त्व अभिषेक का है उतना ही महत्व     महामृत्युंजय मंत्र का भी है। शिव जी की आराधना महामृत्युंजय मंत्र के बिना अपूर्ण है। महाशिवरात्रि पर महामृत्युंजय मंत्र के पारायण व पुरश्चरण विशेष लाभ... आगे पढ़े

ब्रह्मा, विष्णु और महेश के पिता कौन, यहां जानिए....

Updated on 1 March, 2019, 6:00
ब्रह्मा, विष्‍णु और महेश के संबंध में हिन्दू मानस पटल पर भ्रम की स्थिति है। वे उनको ही सर्वोत्तम और स्वयंभू मानते हैं, लेकिन क्या यह सच है? क्या ब्रह्मा, विष्णु और महेश का कोई पिता नहीं है? वेदों में लिखा है कि जो जन्मा या प्रकट है वह ईश्‍वर नहीं हो... आगे पढ़े

जय शिवशंकर, जय गंगाधर, करुणा-कर करतार हरे, पढ़ें भगवान शिव की श्रेष्ठ स्तुति

Updated on 28 February, 2019, 6:30
जय शिवशंकर, जय गंगाधर, करुणा-कर करतार हरे, जय कैलाशी, जय अविनाशी, सुखराशि, सुख-सार हरे जय शशि-शेखर, जय डमरू-धर जय-जय प्रेमागार हरे, जय त्रिपुरारी, जय मदहारी, अमित अनन्त अपार हरे, निर्गुण जय जय, सगुण अनामय, निराकार साकार हरे। पार्वती पति हर-हर शम्भो, पाहि पाहि दातार हरे॥ जय रामेश्वर, जय नागेश्वर वैद्यनाथ, केदार हरे, मल्लिकार्जुन, सोमनाथ, जय, महाकाल ओंकार... आगे पढ़े

जब अर्जुन ने युद्ध करने से कर दिया इनकार तब श्रीकृष्ण ने क्या कहा, जानिए महत्वपूर्ण बात

Updated on 28 February, 2019, 6:15
बातचीत से ही मसला हल हो जाता तो महाभारत का युद्ध नहीं होता। ऐसे समय जबकि बातचीत के सारे विकल्प आजमा लिए गए थे और जब बातचीत असफल हो गई तब युद्ध शुरू हुआ। कुरुक्षेत्र में युद्ध के प्रथम ही दिन जब कुंतीपुत्र अर्जुन ने सामने खड़ी सेना में अपने... आगे पढ़े

समर्थ स्वामी रामदास के 20 अनमोल विचार जरूर पढ़ें, जीवन की राह आसान बना देंगे

Updated on 28 February, 2019, 6:00
समर्थ रामदास स्वामी महाराष्ट्र के एक प्रसिद्ध संत थे। वे महाराजा छत्रपति शिवाजी महाराज के गुरु थे। उनके अमूल्य विचारों से कई महापुरुष भी प्रेरित थे। उनके विचारों ने लोगों और समाज को एक नई दिशा दी। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं उनके 20 अनमोल विचार। आइए जानें... * जो अधर्म... आगे पढ़े

भगवान शिव की 3 बहुत खूबसूरत बेटियां भी थीं, किसी को नहीं पता यह बात...आइए जानें कथा

Updated on 27 February, 2019, 6:45
भगवान शिव की 3 बेटियां थीं। कम ही लोगों को ज्ञात होगा कि भगवान शिव की दरअसल 6 संतानें हैं। इनमें तीन पुत्र हैं और इन्‍हीं के साथ उनकी 3 पुत्र‍ियां भी हैं। इनका वर्णन शिव पुराण में मिलता है। भगवान शिव के तीसरे पुत्र का नाम भगवान अयप्‍पा है और दक्ष‍िण... आगे पढ़े

भगवान शिव के डमरू से निकले विचित्र और चमत्कारी मंत्र, बहुत कम लोग जानते हैं इस बारे में

Updated on 27 February, 2019, 6:30
भगवान शिव के डमरू से निकले ये विचित्र मंत्र, करते हैं कई बड़ी समस्याओं का समूल अंत हर रोग का नाश करें शिव के डमरू मंत्र पुराणों में वर्णित है कि भगवान शिव के डमरू से कुछ अचूक और चमत्कारी मंत्र निकले थे। महाशिवरात्रि पर शिव के डमरू से प्राप्त 14 सूत्रों... आगे पढ़े

क्यों नहीं करनी चाहिए अविवाहिता को शिवलिंग की पूजा? जानिए शिव पूजा से पूर्व 10 काम की बातें

Updated on 27 February, 2019, 6:00
देवों के देव महादेव देवताओं में सबसे श्रेष्ठ देव हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि शिवलिंग की पूजा करना व उसे छूना कुंवारी नारियों के लिए निषेध है। आखिर इसके पीछे क्या कारण है? आइए जानते हैं। 1. लिंगम एक साथ योनि (जो देवी शक्ति का प्रतीक है व महिला... आगे पढ़े

तंत्र क्रिया में भगवान शिव को कई रूपों में बनाकर पूजते हैं...हर कामना के हैं विचित्र शिवलिंग

Updated on 25 February, 2019, 6:45
क्या आप जानते हैं कि तंत्र क्रियाओं के लिए शिवलिंग के कई प्रकार के होते हैं। अलग-अलग कामना की पूर्ति के लिए अलग-अलग शिवलिंग की पूजा की जाती है। आइए जानते हैं विस्तार से... अगर किसी व्यक्ति को अकाल मृत्यु का भय सताता है तो वह दुर्वा को शिवलिंग के आकार... आगे पढ़े

महाशिवरात्रि विशेष : त्रिशूल, तिलक और त्रिनेत्र...क्या है 3 का रहस्य?

Updated on 25 February, 2019, 6:30
भगवान शिव के साथ हमेशा से 3 अंक का रहस्य जुड़ा रहता है। क्या आप भी उनके तीन नंबर के रहस्य के बारे में परिचित नहीं हैं। शिव से जुड़ी हर चीज में आप 3 जरूर पाएंगे। जैसे उनके त्रिशूल में तीन शूल होते हैं। शिव की तीन आंखें हैं।... आगे पढ़े

बहुत कम लोगों के हाथों में होता है यह जादुई क्रॉस, तुरंत देखें अपनी हथेलियों को, जानिए किस्मत कनेक

Updated on 25 February, 2019, 6:15
हाथों की लकीरें हमारे बारे में बहुत से राज खोल देती हैं। अगर आपके हाथ में X का निशान     बनता है तो जान लें किस्‍मत ने आपके लिए कुछ खास संजों कर रखा है। जानिए क्या है क्रॉस का राज... हथेली में अगर कोई रेखा एक दूसरे को काटती है तो... आगे पढ़े

माता सीता की यह रोचक लोककथा आपका दिल जीत लेगी, धन के भंडार भर देगी...

Updated on 25 February, 2019, 6:00
यह कहानी सीता माता कहती थी और श्रीराम इसे सुना करते थे। एक दिन श्रीराम भगवान को किसी काम के लिए बाहर जाना पड़ गया तो सीता माता कहने लगी कि भगवान मेरा तो बारह वर्ष का नितनेम (नित्य नियम) है। अब आप बाहर जाएंगे तो मैं अपनी कहानी किसे... आगे पढ़े

इन 8 चीजों को कभी न करें अनदेखा, ये हो सकती हैं अनहोनी का संकेत

Updated on 24 February, 2019, 6:45
हमारे शास्त्रों के अलावा ऐसी कई मान्यताएं हैं जो हमें होनी-अनहोनी और शुभ-अशुभ के बारे में बताती हैं... हम इनमें विश्वास करें या न करें, लेकिन इनके अस्तित्व से इनकार नहीं किया जा सकता...कुछ चीजें प्राचीन काल से ही बेहद शुभ एवं सकारात्मक मानी जाती हैं, जबकि कुछ चीजें उतनी... आगे पढ़े

धन और यश पाना चाहते हैं, तो रविवार को करें ये 5 चमत्कारिक उपाय ...

Updated on 24 February, 2019, 6:15
रविवार का दिन सूर्यदेव का दिन है, अत: इस दिन विशेष रूप से सूर्य आराधना कर उन्हें प्रसन्न किया जाता है। कुंडली में सूर्य के अशुभ या कमजोर होने पर रविवार के उपाय कर सूर्य के शुभ फलों की प्राप्ति की जा सकती है। जानिए उपाय - 1 सबसे आसान और... आगे पढ़े

प्राचीन भारत के विशालकाय मानव, आज भी रहस्य है बरकरार

Updated on 24 February, 2019, 6:00
यह सोचना थोड़ा कठिन है कि आदिकाल, प्राचीनकाल या पौराणिक काल में लोग 20 से 22 फीट के होते थे? हिन्दू पौराणिक ग्रंथों अनुसार दानव, दैत्य (असुर) और राक्षस लोग विशालकाय हुआ करते थे। हिन्दू पुराणों के अनुसार विशालकाय लंबे-चौड़े राक्षसों जैसे मानव पहले धरती पर रहते थे। पौराणिक कथाओं... आगे पढ़े

शबरी जयंती : कौन थीं शबरी.. जानिए अनूठी भावुक कथा

Updated on 23 February, 2019, 6:45
शबरी का जिक्र तो आपने रामायण के दौरान सुना, जाना और पढ़ा ही होगा आइए आज जानते हैं उनके बारे में विस्तार से...शबरी श्री राम की परम भक्त थीं। जिन्होंने राम को अपने झूठे बेर खिलाए थे। शबरी का असली नाम श्रमणा था। वह भील समुदाय के शबर जाति से... आगे पढ़े

शिवरात्रि पर भोलेनाथ शिव के साथ भगवान विष्णु भी होते हैं प्रसन्न, इन मंत्रों से सुनेंगे हर मनोकाम

Updated on 23 February, 2019, 6:30
इस वर्ष 4 मार्च 2019 को महाशिवरात्रि का विशेष पर्व है। भगवान भोलेनाथ इस दिन प्रसन्न होते हैं लेकिन ब्रह्मवैवर्त पुराण में वर्णित है कि इस दिन भगवान विष्णु भी प्रसन्न होकर मनचाही कामना पूरी करते हैं... अपनी राशि से जानिए भगवान विष्णु का कौन सा मंत्र महाशिवरात्रि पर आपके लिए... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण ने चावल का एक दाना खाया और 10 हजार लोगों का पेट भर गया

Updated on 23 February, 2019, 6:15
भगवान श्रीकृष्ण की कई सखियां थीं। उन्हीं में से एक सखी द्रौपदी का श्रीकृष्ण ने हर कदम पर साथ किया था। एक बार की बात है जब पांडव पुत्र वन में रह रहे थे तब महर्षि दुर्वासा अपने दस हजार शिष्यों को साथ लेकर पांडवों के पास पहुंचे। इसमें भी... आगे पढ़े

कैसे हुआ यह करिश्मा... जब भगवान शिव ने तांडव से थक कर सुंदर रास रचाया

Updated on 22 February, 2019, 6:45
एक बार की बात है 'नटराज' भगवान शिव के तांडव नृत्य में सम्मिलित होने के लिए समस्त देवगण कैलाश पर्वत पर उपस्थित हुए। जगज्जननी माता गौरी वहां दिव्य रत्नसिंहासन पर आसीन होकर अपनी अध्यक्षता में तांडव का आयोजन कराने के लिए उपस्थित थीं। देवर्षि नारद भी उस नृत्य कार्यक्रम में... आगे पढ़े

श्री शिव निरंजनम्‌ : भगवान भोलेनाथ की यह पवित्र स्तुति आपने कहीं नहीं पढ़ी होगी

Updated on 22 February, 2019, 6:15
जय गंगाधर हर शिव, जय गिरिजाधीश त्वं मां पालन नित्यं कृपया जगदीश... हर हर महादेव कैलासे गिरिशिखरे, कल्पद्रुम विपिने शिव कल्पद्रु विपिने गुंजति मधुकर पूंजे कुंजवने गहने...हर हर महादेव कोकिल कूजति खेलति, हंसावन ललिता-शिव... रचयति कला कलापं नृत्यति संहिता... हर हर महादेव तस्मिन्ललित सुदेशे शाखा मणि रचिता-शिव... तन्मध्ये हर निकटे गौरी मुद सहिता... हर हर महादेव क्रीडां रचयति... आगे पढ़े

भगवान शिव को बिल्व पत्र क्यों है इतने प्रिय, यह कथा आपको अचरज में डाल देगी

Updated on 22 February, 2019, 6:00
नारदजी ने एक बार भोलेनाथ की स्तुति कर पूछा- प्रभु! आपको प्रसन्न करने के लिए सबसे उत्तम और सुलभ साधन क्या है? हे त्रिलोकीनाथ! आप तो निर्विकार और निष्काम हैं, आप सहज ही प्रसन्न हो जाते हैं फिर भी मेरी जानने की इच्छा है कि आपको क्या प्रिय है? शिवजी बोले-... आगे पढ़े

श्री गणेश संकष्टी चतुर्थी : कैसे करें वर्षभर के हर माह की चतुर्थी का पूजन

Updated on 21 February, 2019, 6:45
श्री भगवान गणेशजी आदिकाल से पूजित रहे हैं। वेदों में, पुराणों में (शिवपुराण, स्कंद पुराण, अग्नि पुराण, ब्रह्मवैवर्त पुराण आदि) में गणेशजी के संबंध में अनेक लीला कथाएं तथा पूजा-पद्धतियां मिलती हैं। उनके नाम से गणेश पुराण भी सर्वसुलभ है। प्राचीनकाल में अलग-अलग देवता को मानने वाले संप्रदाय अलग-अलग थे। श्री... आगे पढ़े

अपना बालाघाट


Powered By JSK Technosoft